बुधवार, 2 सितंबर 2015

एरेस तू

यूरोप दूसरे विश्वयुद्ध की त्रासदी से विश्वयुद्ध के बाद भी लम्बे समय तक न सिर्फ आर्थिक, बल्कि मानसिक तौर पर भी जूझता रहा। युद्ध की क्षति से उबरने में इन देशों को काफी वक़्त लगा। इस बीच यूरोपीयन ब्राडकास्टिंग यूनियन ने लोगों के हल्के-फुल्के मनोरंजन के लिए गानों की एक सालाना प्रतियोगिता शुरू करने का निर्णय लिया। यह १९५५ की बात है। अगले साल धूमधाम से यूरोपीयन सॉन्ग कॉन्टेस्ट की शुरुआत लुगानो, स्विट्ज़रलैंड में हुई। इस प्रतियोगिता को यूरोविज़न कांटेस्ट के  नाम से जाना गया। पहले साल सात देशों ने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। आजतक तकरीबन ५२ देश इस प्रतियोगिता में भाग ले चुके हैं और इस कार्यक्रम को न सिर्फ सबसे लम्बे समय चलने वाला कार्यक्रम माना जाता है बल्कि यह सबसे ज़्यादा देखे जाने वाले टीवी कार्यक्रमों में से है।

इस कार्यक्रम की खूबसूरती इसमें है कि लगभग सभी देशों से आने वाले गीत आपको पसंद आएंगे। १९५६ का पुरस्कार स्विट्ज़रलैंड को "रिफ़्रेन" गीत के लिए मिला। खैर, इस गीत के बारे में बात फिर कभी। मेरा ध्यान जिस गीत ने एकाएक खींचा था वह १९७३ की प्रतियोगता में  दूसरा स्थान पाने वाला एक गीत था, जिसका नाम आप ऊपर पढ़ चुके हैं। हिस्पानी बैंड "मोसेदादेस" को अपने गीत "एरेस तू" के लिए यह पुरस्कार मिला था। बाकी गीतों की अपेक्षा यह ज़्यादा कर्णप्रिय गीत है; इतना कि इसका अंग्रेजी वर्शन "टच द विंड" भी खासा मक़बूल हुआ था अंग्रेजी के अलावा मोसेदादस ने ही इस गीत के अलग संस्करण पांच अलग भाषाओं में गाए। इसके बाद तो इस गीत को कई अन्य भाषाओं में अलग-अलग लोगों द्वारा गाया गया।

पिछले दिनों एक ख़ास प्रोजेक्ट के लिए मैंने अपनी टीम में एक ब्राज़ीलियाई, एक स्पेनी, एक ताईवानी और एक जापानी कन्या को छः - छः महीनों के लिए लिया। इत्तेफ़ाकन ब्राज़ीली और स्पेनी कन्याएं एकनामा हैं - आक़ेल; हालांकि लिखने का तरीका अलग-अलग है। बहरहाल, एक-दूसरे की संस्कृतियों को समझने को कोशिश करते हुए हमारी अक्सर चाय-कॉफ़ी के दौरान कभी चीन-जापान, कभी ब्राज़ील और कभी स्पेन-भारत के बारे में बातें होती हैं। संगीत इन चर्चाओं का अनिवार्य अंग है। एक दिन हिस्पानी संगीत की चर्चा छिड़ी तो मुझसे पूछा गया कि मुझे क्या और कौनसे गायक/बैंड पसंद हैं। ज़ाहिर है खुलिओ इग्लेसिआस इनमे से एक नाम थे। दूसरा कोई नाम मैंने नहीं लिया लेकिन मोसेदादस का ज़िक्र किया। हिस्पानी आक़ेल प्रतिक्रियास्वरूप खिलखिला दी और बोली, "आप अपने पैदा होने से पहले के गाने सुनते हो?"

दूसरी आक़ेल ने मेरा समर्थन करते हुए कहा कि उसे रोबेर्टो कार्लो के गाने बेहद भाते हैं और वह भी उसके पैदा होने से पहले गाता था। लेकिन जो बात नोटिसेबल थी वह उसने बाद में कही, "संगीत की कोई उम्र नहीं होती।"
video



नीचे गीत के बोल पहले स्पेनिश में, फिर अंग्रेजी में।

Como una promesa, eres tu, eres tu
Como una manana de verano
Como una sonrisa, eres tu, eres tu
Asi, asi, eres tu.
Toda mi esperanza, eres tu, eres tu
Como lluvia fresca en mis manos
Como fuerte brisa, eres tu, eres tu
Asi, asi, eres tu 
Eres tu como el agua de mi fuente 
(Algo asi eres tu)
Eres tu el fuego de mi hogar
Eres tu como el fuego de mi hoguera
Eres tu el trigo de mi pan 
Como mi poema, eres tu, eres tu
Como una guitarra en la noche
Todo mi horizonte eres tu, eres tu
Asi, asi, eres tu 
Eres tu como el agua de mi fuente
(Algo asi eres tu)
Eres tu el fuego de mi hogar
Eres tu como el fuego de mi hoguera
Eres tu el trigo de mi pan 
Eres tu... 

[English translation]
Like a promise, you are, you are
Like a summer morning
Like a smile, you are, you are
Like that, like that, you are
All my hope, you are, you are
Like fresh rain in my hands
Like a strong breeze, you are, you are
Like that, like that, you are

You are like the water of my source
(Something like that, you are)
You are like the fire of my home
You are like the fire of my bonfire
You are like the wheat of my bread
You are
Like a poem, you are, you are
Like a guitar in the night
My whole horizon, you are, you are
Like that, like that, you are


यह माना जाता रहा है कि यह गीत यूगोस्लाविया के १९६६ के एक गीत "Brez besed" की कॉपी है। मेरी राय में इस गाने में युगोस्लावी गाने का प्रभाव संभवतः हो लेकिन इसके बावजूद अपनी संरचना और भव्यता में एरेस तू Brez besed से अलग खड़ा नज़र आता है। फिलहाल तो आप इस गीत का लुत्फ़ लीजिये। 

0 टिप्पणियां:

 

प्रत्येक वाणी में महाकाव्य... © 2010

Blogger Templates by Splashy Templates